घर वापसी …पक्षियों की …

घर वापसी …पक्षियों की … हमारी पंचायत के,आज कल मनुष्यों से खाली पड़े सामुदायिक भवन में …

हम “समुदाय” में पक्षियों को जोड़ना भूल गए थे …प्रकृति को स्मरण रहा ..हमें सबक सिखाना भी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *